ग्रामसभा गोपालापुर का चुनाव निरस्त कर पुनः मतदान कराने की मांग पर अड़े प्रत्याशी

जौनपुर। जनपद के मड़ियाहूं तहसील के रामनगर ब्लाक में चल रही मतगणना में एक मतपेटिका में 85 से अधिक बैलेट पेपर बिना दस्तखत और दूसरी मतपेटिका में 50 अधिक मतपत्र कम मिलने से हड़कंप मच गया है। जबकि मतगणना में लगे अधिकारी व कर्मचारी अपनी खामियां छिपाने के लिये बिना दस्तखत के मिले 85 मतों की गिनती न करने की बात कहकर जीत की घोषणा करने पर अड़े हैं। इससे आक्रोशित प्रत्याशियों एवं उनके समर्थकों ने नारेबाजी करते हुए धरना पर बैठ गये। उनकी मांग है कि चुनाव निरस्त कर पुनः मतदान कराया जाय। उधर पुलिस धरना दे रहे समर्थकों को खदेड़ने का प्रयास कर रही है। बता दें कि मड़ियाहूं तहसील के रामनगर ब्लाक के ग्रामसभा गोपालापुर की मतगणना चल रही थी। इस दौरान एक मतपेटिका में 85 बैलेट पेपर बिना दस्तखत के मिले। जबकि दूसरी मतपेटिका में 585 की जगह 532 मत ही मिले। इससे वहां मौजूद मतगणना अभिकर्ताओं ने आपत्ति किया तो कुछ देर के लिये मतगणना रोक दी गयी लेकिन जब इसकी शिकायत जिलाधिकारी से किया गया तो उन्होंने एसडीएम मड़ियाहूं को मौके पर भेजा। एसडीएम मतगणना स्थल पहुंचने के बाद जब पूरी बातें सुने और मतपत्रों को कम पाया तो एकबारगी चौक गये लेकिन कुछ ही देर में अपने व मतगणनाकर्मियों एवं पीठासीन अधिकारियों की खामियां छिपाने के चक्कर में प्रत्याशियों से कहा, जो मतपत्र बिना दस्तखत के मिले हैं उन्हें हटाकर बाकी मतों की गिनती कर परिणाम घोषित कर दें रहे है लेकिन जिस मतपेटी में 585 की जगह 532 मत ही मिले हैं उस पर चुप्पी साध ली। इससे प्रत्याशी एवं उनके समर्थक हो हल्ला मचाने लगे और चुनाव आयोग से ग्रामसभा गोपालापुर का चुनाव निरस्त कराने की मांग करने लगे। एसडीएम अपनी तानाशाही रवैये का परिचय देते हुए समर्थकों को हड़काया अगर नहीं हटे तो लाठीचार्ज करवा देंगे। लेकिन समर्थक अपनी मांग पर डटे है। इसके अलावा समर्थक एवं प्रत्याशियों ने जिला निर्वाचन अधिकारी एवं चुनाव आयोग को पत्र भेजकर चुनाव निरस्त कराने की मांग की है। आरोप है कि एक प्रत्याशी का समर्थक राजू मौर्या रामनगर ब्लाक में कर्मचारी है और अधिकारियों की मिलीभगत से इस तरह की धांधली की है।

Post a Comment

0 Comments