पुलिस ने चिता बुझाकर कब्जे में लिया महिला का अवशेष शव

           जौनपुर।  पुलिस ने मंगलवार को संदिग्ध हाल में मृत विवाहिता कल्पना प्रजापति (30) के शव का अवशेष चिता बुझवाकर कब्जे में ले लिया। अंत्येष्टि क्षेत्र के बरगूदर पुल स्थित सई नदी के किनारे की जा रही थी। पुलिस ने यह कार्रवाई मृतक महिला के भाई की शिकायत पर की। स्वजन का कहना है कि उसकी मौत छज्जे से गिरने के कारण हुई थी। मायके वालों की सहमति से शव की अंत्येष्टि की जा रही थी। पुलिस मामले की तहकीकात में जुटी है। पुलिस ने मृतका के भाई से भी पूछताछ की। 
           बक्शा थाना क्षेत्र के मझौली गांव निवासी रमेशचंद्र प्रजापति की पत्नी कल्पना की सुबह आठ बजे संदिग्ध हाल में मौत हो गई। कल्पना का मायका लाइन बाजार थाना क्षेत्र के बेलवां रामसागर गांव में है। ससुरालीजन की सूचना पर मायके पक्ष के लोग आ गए। पूछताछ के दौरान मायके वालों को ससुरालीजन ने बताया कि कल्पना करीब आठ बजे कमरे में छज्जे पर चढ़कर सफाई कर रही थी। इसी दौरान पैर फिसल जाने से वह गिर गई और गंभीर चोट आने से बेहोश हो गई। घर पर इलाज के लिए बुलाए गए पास में क्लीनिक चला रहे डाक्टर ने देखते ही उसे मृत घोषित कर दिया। 
        ससुरालीजन के अनुसार मायके वालों की मौजूदगी और सहमति के कारण पर पुलिस को सूचना नहीं दी गई। शव को सिकरारा थाना क्षेत्र के बरगूदर पुल के पास सई नदी के किनारे ले जाकर अंत्येष्टि की जा रही थी। इसी दौरान मौके पर मौजूद कल्पना के भाई नंदलाल ने यूपी-112 पर पुलिस को सूचना दे दी कि उनकी बहन को ससुराल वालों ने मार डाला है और बिना पोस्टमार्टम कराए ही शव की अंत्येष्टि कर रहे हैं। मौके पर मय फोर्स पहुंचे सिकरारा थाने के एसआइ संतराम ने चिता बुझवा दी। शव के अवशेष की रखवाली के लिए दो पुलिस जवानों की ड्यूटी लगा दी गई है। 
     थानाध्यक्ष बक्शा विनोद कुमार सिंह ने बताया कि मृतका के पति को थाने लाकर पूछताछ की जा रही है। भाई शराब के नशे में है। किसी ने कोई तहरीर अभी नहीं दी है। छानबीन कर आगे कार्रवाई की जाएगी। कल्पना चार बच्चों की मां थी।

Post a Comment

0 Comments