टिकट ना मिलने से नाराज पूर्व विधायक श्रद्धा यादव के बगावती तेवर

टिकट ना मिलने से नाराज पूर्व विधायक श्रद्धा यादव के बगावती तेवर
जौनपुर । बलिया जिले में बैरिया विधानसभा सीट पर भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह का टिकट कटने के बाद उठा बवाल शांत भी नहीं हुआ था कि बगावत की आंच दूसरे दलों तक भी पहुंच गई। इसी कड़ी में जौनपुर जिले की मड़‍ियाहूं विधानसभा सीट को लेकर समाजवादी पार्टी नेता श्रद्धा यादव ने विरोध का रुख अख्‍तियार करते हुए पार्टी के खिलाफ बगावती तेवर अपना लिया है। इस मामले को लेकर मंगलवार को जिले में काफी सरगर्मी बनी रही। 
मड़ियाहूं से सपा की पूर्व विधायक श्रद्धा यादव ने समाजवादी पार्टी से टिकट न मिलने पर बगावती तेवर अपना लिया है। मंगलवार को पूर्व विधायक के आवास पर समर्थकों की भारी भीड़ जुटी। जहां श्रद्धा यादव तुम संघर्ष करो हम तुम्हारे साथ हैं के नारे गूंजे। पूर्व विधायक श्रद्धा यादव ने कहा कि समर्थकों तथा मड़ियाहूं विधानसभा की जनता कहेगी तो वह किसी भी पार्टी या निर्दल चुनावी मैदान में उतरने को तैयार हैं।
कहा कि 2012 के चुनाव में मड़ियाहूं विधानसभा जीतकर मैंने समाजवादी पार्टी की सरकार बनाने में सहयोग किया था 2017 की चुनाव में चुनाव हारी, परंतु क्षेत्र की जनता के बीच लगातार पांच वर्षों तक उनके दुख-सुख में साथ रही। कुछ दिन पहले ही समाजवादी पार्टी में शामिल हुई मुंगराबादशाहपुर से बसपा विधायक सुषमा पटेल को मड़ियाहूं विधानसभा से टिकट दिए जाने से समाजवादी पार्टी के समर्थकों में भारी आक्रोश देखने को मिला।
श्रद्धा यादव ने अपना राजनीतिक सफर 1995 में ब्लाक प्रमुख से प्रारंभ किया। 2004 में मड़ियाहूं विधानसभा के उपचुनाव में समाजवादी पार्टी का प्रत्याशी बनाया गया और वह विजयी हुईं। 2007 में समाजवादी पार्टी ने लकी यादव को टिकट दिया तो पूर्व विधायक ने निर्दलीय ताल ठोंका, परंतु दूसरे नंबर से संतोष करना पड़ा। 2012 में श्रद्धा यादव ने बसपा की सावित्री देवी को पराजित करके विधानसभा पहुंचीं। 2017 में भाजपा के सहयोगी अपना दल (एस) प्रत्याशी डा. लीना तिवारी से पराजित हुईं।

Post a Comment

0 Comments